August 18, 2022
उपभोक्ता किसे कहते हैं

उपभोक्ता किसे कहते हैं | उपभोक्ता क्या है इसकी परिभाषा और अर्थ

(upbhokta kise kahate hain, upbhokta ke adhikar, upbhokta divas, upbhokta jagrukta, upbhokta shiksha, उपभोक्ता का अर्थ, राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस)

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे उपभोक्ता के बारे मे की उपभोक्ता का अर्थ क्या है और उपभोक्ता किसे कहते हैं (upbhokta kise kahate hain) इसके अलावा इस आर्टिकल में जानेंगे की उपभोक्ता अधिकार क्या है (upbhokta ke adhikar) और राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस कब मनाया जाता है तो चलिए शुरू करते हैं इस पोस्ट को और जानते हैं कि उपभोक्ता क्या है और उपभोक्ता किसे कहते हैं?

उपभोक्ता किसे कहते हैं? (Upbhokta Kise Kahate Hain)

Upbhokta Kise Kahate Hain :- कोई भी प्रोडक्ट और सर्विस को खरीदने वाले व्यक्ति को उपभोक्ता कहते हैं यानी कि उपभोक्ता वह व्यक्ति होता है जो बाजार से वस्तु और सेवा को खरीदता है और उसका उपयोग करता है वह बाजार का कोई भी सामान हो सकता है अगर हम उदाहरण के लिए बताएं तो जैसे कि गेहूं, दाल, चावल, सब्जी, पंखा, टीवी, मोबाइल, इंटरनेट सेवा, बैंक सेवा आदि हो सकता है.

उपभोक्ता उसे नही कहां जा सकता है जोकि  बाजार से सामान खरीद कर दूसरे को बेचता है बल्कि उपभोक्ता उसे कहा जाता है जो बाजार से अपनी जरूरत की सभी चीजों को खरीद कर और उसे इस्तेमाल करता है उसी को उपभोक्ता कहा जाता है।

उपभोक्ता क्या है? (Upbhokta Kya Hai)

उपभोक्ता हुआ व्यक्ति होता है जो बाजार में उपलब्ध कोई भी सामान को खरीदता है और उसे इस्तेमाल करता है। अगर हम बात करें तो उपभोक्ता पुरुष, महिला, बुजुर्ग, बच्चे, मे से कोई भी हो सकता है। Upbhokta किसी भी व्यवसाय या संस्था के लिए काफी ज्यादा महत्वपूर्ण भाग होता है क्योंकि उपभोक्ता ही उस व्यवसाय के उत्पाद को अपनी जरूरत के अनुसार खरीदता है और उसे इस्तेमाल करता है।

जैसे कि हम सभी अपने जरूरत के हिसाब से बाजार से कोई भी सामान को खरीदते रहते है तो हम भी एक प्रकार के लिए उपभोक्ता हुए।

उपभोक्ता कौन है ? (Upbhokta Kon Hai)

किसी भी वस्तु को खरीदने वाला और उपयोग करने वाला व्यक्ति उपभोक्ता होता है। जैसे कि हम लोगों को सामान को खरीद कर उसका उपयोग करते हैं तो हम लोग भी उपभोक्ता हुए।

Upbhokta Ki Paribhasha (उपभोक्ता की परिभाषा)

उपभोक्ता को अंग्रेजी भाषा में consumer कहा जाता है consumer वह होता है जो अपनी आवश्यकता के अनुसार वस्तुए जैसे चावल, गेहू, चीनी, नमक, रेफ्रिजरेटर, गाड़ी, टेलीविजन, फल, सब्जियां, कपड़े, बाइक आदि को खरीदता है और उन सभी वस्तुओं का इस्तेमाल करता है। अगर हम आसान भाषा में कहें तो उपभोक्ता कंपनी द्वारा उत्पादन की गई वस्तुओं मूल्य देकर खरीदता है।

उपभोक्ता कितने प्रकार के होते हैं ?

मुख्य तौर पर उपभोक्ता के चार प्रकार होते हैं जिनमें पौधे, सर्वशक्तिमान, मांसाहारी, और विघटनकारी होते हैं।

उपभोक्ता के अधिकार (upbhokta ke adhikar)

उपभोक्ता के अधिकार भी मिला हुआ है जिसके मुताबिक यदि उन्हें लगता है कि दुकानदार या कंपनी उनके साथ ठगी या किसी प्रकार के खराब वस्तु बेचता है तो इन सभी upbhokta adhikar के मुताबिक उपभोक्ता उन सभी दुकानदार या कंपनी पर क्षतिपूर्ति का कंप्लेंट कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं उन सभी upbhokta adhikar के बारे में:-

सुरक्षा का अधिकार

उपभोक्ता के पास सुरक्षा का अधिकार होता हैं अगर आप किसी दुकान पर जाते हैं और  दुकानदार आपको जीवन और स्वास्थ्य से जुड़ी कोई वास्तु भेजता है और यदि वह प्रोडक्ट उपभोक्ता के स्वास्थ्य और जीवन के लिए  खतरनाक और हानिकारक है. तो ऐसी स्थिति में उपभोक्ता उस कंपनी, दुकानदार या व्यापारी पर क्षतिपूर्ति का दावा कर सकते है.

उदाहरण के लिए मान लीजिए कि यदि आप  गैस खरीदने जाते हैं और आप नई गैस को खरीद लेते हैं और जब घर पर आकर खाना बनाते हैं तो गैस लीक करने की वजह से  घर में आग लग जाती है तो आप ऐसी स्थिति में उस गैस कंपनी पर क्षतिपूर्ति का कंप्लेंट कर सकते हैं।

सुचना का अधिकार

व्यापारी को किसी भी वस्तु को बेचने से पहले उपभोक्ता को उस वस्तु से जुड़ी सभी जानकारियों को बताना होगा जैसे कि मूल्य, एक्सपायरी डेट, स्तर, गुणवत्ता, शुद्दता इत्यादि. अगर किसी भी उपभोक्ता को उस वस्तु से जुड़ी कोई भी शिकायत होती है तो उपभोक्ता उस कंपनी पर कंप्लेंट कर सकता है जैसे कि मान लीजिए की यदि कोई बनाने वाली कंपनी है और दवा बनाती है तो उसे हर एक दवा पर उस दवा के एक्सपायरी डेट लिखना जरूरी है।

चयन का अधिकार

उपभोक्ता को अपनी पसंद के हिसाब से किसी भी प्रोडक्ट को चुनने की अनुमति है  उपभोक्ता अपने हिसाब से कोई भी प्रोडक्ट को अच्छे से पढ़ सकता है और गुणवत्ता वाले प्रोडक्ट को चुन सकता है कई बार विज्ञापनों में प्रोडक्ट को बढ़ा चढ़ा कर दिखाया जाता है और उपभोक्ता को उस प्रोडक्ट को खरीदने के बाद पता चलता है तो इसलिए गुप्ता को इन सभी जानकारियों से सतर्क आना चाहिए।

निवारण अधिकार

अगर किसी उपभोक्ता को सस्ती वस्तु महंगा मे बेचा गया है  तो उपभोक्ता को पूरा अधिकार है कि वह वह उस कंपनी पर और उस व्यापारी पर  कंप्लेंट कर सकता है और अपनी consumerhelpline.gov.in पर अपना शिकायत दर्ज करा सकता है।

सुनवाई का अधिकार

यानी की इस अधिकार के मुताबिक उपभोक्ता को अपनी कंप्लेन की सुनवाई पर अपनी बात कहने और और राय रखने का पूर्ण अधिकार होता है.

उपभोक्ता के उत्तरदायित्व

जिस प्रकार से उपभोक्ताओ को कुछ अधिकार है उसी प्रकार से उपभोक्ताओ के भी कुछ उत्तरदायित्व होते है। जिससे वह किसी भी ठगी से खुद को बचा सकते हैं तो यदि हम बात करे उपभोक्ताओ के कुछ उन्ही उत्तरदायित्व की तो उपभोक्ता के उत्तरदायित्व है जैसे कि:-

  • उपभोक्ता का दायित्व है की किसी भी वस्तु को खरीदने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी ले लें और अपने आवश्यकता के अनुसार सिर्फ सही वस्तुओं को ही चयन करें।
  • उपभोक्ता का दूसरा दायित्व यह है की वह किसी भी वस्तु या समान को खरीदते समय उस वस्तु का  बिल जरूर बनवा लें. और उसे बिल को अपने पास सुरक्षित रखें ताकि कभी भी जरूरत पड़ने पर उसे सबूत के रूप में पेश किया जा सके।
  • उपभोक्ता के उत्तरदायित्व यह भी है कि अगर उपभोक्ता किसी जिस से जुड़ी शिकायत करता है तो उसकी शिकायत सही हो क्योंकि ऐसा देखा गया है कि बहुत सारे मामले में उपभोक्ता झूठी शिकायत करके अत्यधिक क्षतिपूर्ति राशी का दावा करता है इसलिए यह बहुत अनुचित कार्य है. इस मामले में पकड़े जाने के बाद उस पर कड़ी कार्रवाई हो सकती है।
  • उपभोक्ताओ को खरीदा गया किसी भी वस्तु और सेवा को सही और उचित तरीके से इस्तेमाल करना चाहिए. क्योंकि काफी बार देखा गया है कि उपभोक्ता गारंटी के दौरान वस्तुओं का गलत तरीके से उपयोग करता है जो कि बिल्कुल गलत है।

Read Also :- सुंदरवन डेल्टा कहां है ?

उपभोक्ता शिक्षा के लाभ (upbhokta shiksha ke kya labh hai)

उपभोक्ता शिक्षा के यह कुछ निम्नलिखित लाभ है:-

  • उपभोक्ता शिक्षा से उपभोक्ता को सही और ओरिजिनल वस्तु खरीदने मे सहायता होती है।
  • उपभोक्ता सुरक्षित और उच्च गुणवत्ता वाली वस्तुओं की चयन करता है
  • उपभोक्ता खराब गुणवत्ता वाली वस्तुओं के उपयोग से अपने आपको बता सकता है।
  • उपभोक्ता शिक्षा के मदद से उपभोक्ता व्यापारियों के गलत दाम देने से बच सकता है।
  • उपभोक्ता शिक्षा के मदद से उपभोक्ता व्यापारियों द्वारा बेचा गया गलत वस्तुओं पर कंप्लेंट कर सकता है।

upbhokta divas kab manaya jata hai (vishwa upbhokta divas)

विश्व उपभोक्ता दिवस हर वर्ष 15 March को मनाया जाता है। वहीं हर वर्ष 24 December को पूरे देश में राष्ट्रीय उपभोक्ता संरक्षण दिवस मनाया जाता है। उपभोक्ता दिवस मानाने का मुख्य उद्देश्य यह है कि ग्राहकों और उभोक्ताओं को उपभोक्ता संरक्षण अधि‍नियम को और उनके कानून के बारे में अवगत कराना और जानकारी देना है।

उपभोक्ता कौन है? (Upbhokta Kon Hai)

किसी भी वस्तु को खरीदने वाला और उपयोग करने वाला व्यक्ति उपभोक्ता होता है।

उपभोक्ता का अर्थ (Upbhokta Ka Arth)

उपभोक्ता का अर्थ consumer होता है यानी कि किसी भी सामान को उपयोग करने वाला व्यक्ति कंजूमर होता है।

उपभोक्ता जागरूकता के महत्व को समझाइए? (utupbhokta jagrukta ke mahatva ko samjhaie)   

उपभोक्ता जागरूकता का अर्थ यह है की उपभोक्ता को विभिन्न-विभिन्न उपभोक्ता उत्पादन कानूनों, उपभोक्ता अधिकारों और निवारण तंत्र के बारे में जागरूक होना और ज्ञान रखना है ताकि उपभोक्ता किसी भी ठगी से बच सकें।

राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस कब मनाया जाता है?

राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस हर साल 24 दिसंबर को मनाया जाता है. उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम को साल 1986 में ही पारित किया गया था.

भारत में उपभोक्ता संरक्षण कानून कब लागू हुआ (upbhokta sanrakshan adhiniyam)

उपभोक्ता संरक्षण कानून 24 दिसम्बर 1986 को पूरे भारत देश में लागू हुआ।

उत्पादक एवं उपभोक्ता में कोई तीन अंतर लिखिए (utpadak avn upbhokta mein koi 3 antar)

(1) ऐसे जीव-जंतु जो प्रकाश-संश्लेषण यानी कि फोटोसिंथेसिस की क्रिया से अपना भोजन बनाते हैं वो उत्पादक के श्रेणी में आते हैं।

(2) सभी प्रकार के हरे पौधे उत्पादक के श्रेणी में आते हैं।

(3) उपभोक्ता ऐसे जीव होते हैं जो अपने भोजन के लिए दूसरे जीव के ऊपर निर्भर रहते हैं उसे ही उपभोक्ता कहते हैं। सारे जंतु उपभोक्ता के श्रेणी में आते हैं।

Read Also :- उत्तर प्रदेश का पुराना नाम क्या था

उपभोक्ता शोषण के दो प्रकार

दुकानदार, विक्रेता या कंपनी उपभोक्ता का कई प्रकार से शोषण करती हैं जैसे कि अधिक कीमत लेना, बिल न देना, नकली वस्तु देना, मिलावट करना, कम तोलना, इत्यादि।

Watch This :-

Video Credit By :-Nisha education Youtube Chaneel
[ Conclusion ]

दोस्तो आप हमें उम्मीद है कि आप आपको जानकारी हो गई होगी कि उपभोक्ता क्या है और उपभोक्ता किसे कहते हैं (upbhokta kise kahate hain) इस पोस्ट में पूरा विस्तार से बताया है कि उपभोक्ता अधिकार क्या है और upbhokta jagrukta और upbhokta shiksha ke kya labh hai और विश्व उपभोक्ता दिवस कब मनाया जाता है तो यदि आप इन सभी जानकारियों को जान चुके हैं तो इस लेख को अपने दोस्तों के पास शेयर जरूर करें.. धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.